Ratnakar Mishra

12/20/2013

ऐसा भी होता है और वैसा भी होता है Part -1

Filed under: Social issue — ratnakarmishra @ 6:52 pm

ऐसा भी होता है और वैसा भी होता है
Part-1
“क्यों IIT वालो ने ठेका ले रखा है की ,सिर्फ वही काबिल हो सकते है ,हम जैसे टुच्चे किसी ऐरे–गेरे इंजिनियरिंग कॉलेज से पढ़े हुए किसी लायक नहीं है क्या ? जहाँ देखो वहाँ इन premimum college वालो ने तो हमारी वाट लगा दी है ,देखना एक दिन मैं भी दुनिया को दिखाऊंगा की मैं भी क्या चीज़ हूँ “
चल यार गुस्सा मत हो ,अन्ना के दुकान पर चल के चाय और सुट्टा मारते है ,वैसे तेरे को गुस्सा किस बात पर आ रहा है ?
अरे कुछ नहीं बस ऐसे ही एक news पढ़ रहा था नेट पर उसी को ले कर .
ये है मेरा रूम मेट नंबर एक ,’सौरव’ from नज़फगढ़ ,अरे अपने वीरू भाई के शहर से .इसे इस दुनिया मैं सिर्फ दो ही चीजों से लगाव है ,एक है इन्टरनेट और दूसरा सोना ,यदि ये इन्टरनेट पर नहीं होता है तो विस्तर पर होता है , सब इसके बारे मैं यही कहते है, कि जैसे कुम्हकरण ने अपनी आधी जिंदगी सोने और आधी खाने मैं गुजार दी वैसे ही इसने भी अपनी अब तक की जिंदगी मैं आधी सोने और आधी इंटरनेट पर गुजारी है ,इसका बस एक ही जीवन का लक्ष्य है इस सिस्टम को सुधारना ,मगर कैसे ये इसे नहीं पता ,शायद इसलिए ये इंटरनेट पर हमेशा सर्च करते रहता है .
बस हम अपने रूम से निकलने ही वाले थे, की ‘अभी’ ने कहा ,मेरे लिए एक पैकेट लेते आना
अभि From पटना , ये है मेरा रूम मेट नंबर दो ,दिन मैं मुश्किल से कुछेक शब्द बोलता है ,न जाने क्या गम छुपा के रखा है ,रोज रात मैं old monk की एक पौवा मार के सोता है ,हमेशा सिगरेट के धुएँ से घिरा रहता है,ये ऐसा क्यों है इसका पता , मुझे किसी सूत्रों से पता चला की ,जनाब जब Seventh class मैं थे ,तो बिहार के अपहरण बिज़नस का हिस्सा बने थे ,और काफी दिनों तक मीडिया और न्यूज़ चेनलों पर छाए रहने के बाद जब अपहरणकर्ताओं ने इन्हें छोड़ा तो इनकी बोलती बंद हो गयी थी ,तभी से ये दिन भर मैं कुछेक शब्द बोलते है

Advertisements

1 Comment »

  1. Kya bat hai sahi ja rahe ho bhai mast hai…

    Comment by Shashwat Shriparv — 12/23/2013 @ 8:44 am | Reply


RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: